ALL उत्तर प्रदेश
ये नियम जान ले तो नही कटेगा चालान 🚥⛔🚥
September 12, 2019 • यश त्रिवेदी

 अपने DigiLocker खाते में ड्राइविंग लाइसेंस कैसे अपलोड करें।

 डिजिटल ड्राइविंग लाइसेंस और वाहन पंजीकरण भौतिक दस्तावेजों के उपयोग को दर्शाता है।

 क्लाउड-आधारित सरकारी मंच डिजीलॉकर ने अपनी आधिकारिक वेबसाइट - digilocker.gov.in के अनुसार, नागरिकों को डिजिटल ड्राइविंग लाइसेंस (डीएल) और वाहन पंजीकरण प्रमाणपत्र (आरसी) उपलब्ध कराने के लिए सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय के साथ भागीदारी की है।  इस साझेदारी के तहत, डिजीलॉकर सीधे राष्ट्रीय रजिस्टर के साथ एकीकृत होता है, जो देश भर में ड्राइविंग लाइसेंस और वाहन पंजीकरण डेटा का राष्ट्रीय डेटाबेस है।  

DigiLocker उपयोगकर्ता अपने डिजिटल DL और RC दोनों को डेस्कटॉप कंप्यूटर और मोबाइल उपकरणों पर एक्सेस कर सकते हैं।

यहाँ DigiLocker खाते और अन्य विवरणों में ड्राइविंग लाइसेंस अपलोड करने के चरण दिए गए हैं:-

● डिजीलॉकर खाते में साइन अप करने के लिए, एक उपयोगकर्ता नाम और पासवर्ड का चयन करके ओटीपी (वन-टाइम पासवर्ड) भेजकर मोबाइल नंबर को प्रमाणित किया जाना चाहिए।  यह DigiLocker खाता बनाता है।

डिजीलॉकर खाता सफलतापूर्वक बनने के बाद, डिजीलॉकर की वेबसाइट के अनुसार, अतिरिक्त सेवाओं का लाभ उठाने के लिए आधार नंबर (भारतीय विशिष्ट विकास प्राधिकरण द्वारा जारी) प्रदान करना आवश्यक है।

● उपयोगकर्ताओं को आवश्यक दस्तावेजों को खींचने के लिए "खींचो साथी दस्तावेज" अनुभाग पर जाना चाहिए।  यहां आवेदक को जारीकर्ता और दस्तावेज़ प्रकार का चयन करना आवश्यक है।

नाम और जन्मतिथि आधार से पूर्व निर्धारित है और यह संपादन योग्य नहीं है।  दस्तावेज केवल तभी प्राप्त हो सकता है जब आधार नाम डीएल और आरसी रिकॉर्ड में नाम से मेल खाता हो।

डीएल नंबर दर्ज करने पर, डिजीलॉकर सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय (MoRTH) रिकॉर्ड प्राप्त करता है।

डिजीलॉकर में DL को डिजिटल रूप से MoRTH द्वारा हस्ताक्षरित किया गया है।  यह राष्ट्रीय रजिस्टर डेटाबेस से सीधे वास्तविक समय में प्राप्त किया जाता है और रिकॉर्ड रखने के उद्देश्यों के लिए टाइमस्टैम्प है।

यदि राष्ट्रीय रजिस्टर में डीएल रिकॉर्ड मौजूद नहीं है, तो DigiLocker इसे प्राप्त करने में असमर्थ होगा।

डिजिटल ड्राइविंग लाइसेंस और वाहन पंजीकरण भौतिक दस्तावेजों के उपयोग को कम करता है।

नागरिक डेटा स्रोत से सीधे प्रमाणिक डिजिटल प्रमाणपत्र को अन्य विभागों के साथ पहचान और पते के प्रमाण के रूप में साझा कर सकते हैं, जिसके परिणामस्वरूप प्रशासनिक उपरि की कमी होती है।

डिजीलॉकर खाते में डिजिटल आरसी और डीएल को प्रामाणिकता के लिए सत्यापित किया जा सकता है या तो डॉक्यूमेंट की पीडीएफ कॉपी पर MoRTH के डिजिटल हस्ताक्षर को सत्यापित करके या डिजीकॉकर मोबाइल ऐप पर क्यूआर स्कैन सुविधा का उपयोग करके डिजिटल दस्तावेजों पर क्यूआर कोड को स्कैन करके किया जा सकता है।