ALL उत्तर प्रदेश
बाराबंकी: क्वारंटाइन किये गए वृद्ध की मौत
April 11, 2020 • यश त्रिवेदी

 

दरअसल थानाध्यक्ष मोहम्मुदपुर खाला मनोज शर्मा ने बताया कि बड़नापुर गांव निवासी करीब 75 वर्षीय राम सेवक वर्मा का पुत्र इंद्रभान वर्मा गुजरात के बड़ोदरा में रहता है। रामसवेक वहां से 21 मार्च को गांव लौटा। फतेहपुर सीएचसी की स्वास्थ्य विभाग की टीम ने गांव में उसकी जांच की थी। सर्दी, जुकाम व बुखार जैसे कोई लक्षण नहीं थे। दमा रोग की दवाई बड़ोदरा के एक चिकित्सालय से चल रही थी जो उसके पास थी। गुरुवार से रामसेवक घर से बाहर नहीं दिखाई पड़ा। ग्राम प्रधान महेंद्र सिंह ने शुक्रवार की शाम घर में रामसजीवन को मृत देखने के बाद सूचना दी। थानाध्यक्ष ने बताया कि प्रथम दृष्टया घर में हार्ट अटैक के चलते मौत होने का अनुमान लगाया जा रहा है। थानाध्यक्ष ने बताया कि मृत्य 24 घंटे के अंदर ही होने का अनुमान है। पोस्टमार्टम होगा कि नहीं? इस सवाल पर थानाध्यक्ष ने कहा कि जैसा उच्चाधिकारी निर्देशित करेंगे वैसा किया जाएगा।

सवाल 
यदि वह दमा रोगी था तो उसे अकेले होमक्वारंटाइन क्यों किया गया? स्कूलों में अन्य लोगों के साथ क्यों नहीं रखा गया? अकेले रह रहे वृद्ध के लिए भोजन की व्यवस्था क्या थी? हो सकता है उसे अटैक पड़ा हो और दवा न मिल पाई हो? यदि पोस्टमॉर्टम नहीं हुआ तो कैसे पता चलेगा मौत का कारण?